फरीदाबाद जिला कोर्ट बिल्डिंग सेक्टर 12 लॉयर्स चैंबर 382 में 12वीं बार फिर युवा वकीलों को मुफ्त मिलेंगी कानूनी किताब

Spread This
Faridabad : फरीदाबाद जिले की कोर्ट लायर्स चेंबर 382 के अंदर 12वीं बार एडवोकेट एल एन पाराशर (अध्यक्ष न्यायिक सुधार संघर्ष समिति एवं बार एसोसिएशन के पूर्व प्रधान ) 27 जनवरी दिन शुक्रवार को दोपहर 1:00 बजे फिर युवा वकीलों को मुफ्त बाटेंगे अनेकों कानूनी किताबें।
वरिष्ठ अधिवक्ता एडवोकेट एल एन पाराशर से बात करने पर उन्होंने बताया कि वह 11 बार इससे पहले भी युवा वकीलों को मुफ्त में कानूनी किताबें और बहुत सारी कानूनी सामग्रियां दे चुके हैं, इसी कड़ी में 12वीं बार वह पुन: 27 जनवरी 2023 दिन शुक्रवार को अपने चेबर नंबर 382 में मुफ्त 2022 की ओवररुल्ड अलर्ट, क्रिमिनल टोटल डाइजेस्ट 2022 , 2022 क्रिमिनल एक्ट किताब मुफ्त दी जाएंगी, उनसे बात करने पर उन्होंने यह भी बताया कि फरीदाबाद कोर्ट के सभी युवा वकीलों को 11 बार में लगभग सभी दुर्लभ किताबें मुहैया करा चुके हैं, यह नई किताबें भी 12वीं बार में देना चाहते हैं, हमने जब वरिष्ठ अधिवक्ता एडवोकेट एल एन पाराशर से कहा कि क्या यह सब कार्यक्रम वह किसी चुनाव के लड़ने की इच्छा हेतु कर रहे हैं या इसके पीछे उनका कोई और उद्देश्य है l
तब उन्होंने बताया कि उन्हें अपने जीवन में कोई इलेक्शन नहीं लड़ना और ना ही इलेक्शन में कोई दिलचस्पी है, और ना ही उन्हें कोई नाम कमाने की इच्छा है अपितु उनके पीछे उन्होंने अपना सबसे बड़ा उद्देश्य यह बताया कि हमारे शहर के युवा वकील निडर और दृढ़ता से कोर्ट में अपना पक्ष रख सकें इसलिए वह समय-समय पर लगातार दसवीं बार उन्हें मुफ्त में जरूरी कानूनी किताबें मुहैया करा रहे हैं, और उन्होंने यह कहा कि उन्हें ऐसा करने से बहुत बड़ा सुकून प्राप्त होता है।

 

उनसे जब पूछा गया कि क्या उनके भतीजे जो कोर्ट में एडवोकेट्स है या उनके शिष्य इन सब कार्यक्रम पर कोई आपत्ति नहीं करते, तब उन्होंने कहा कि नहीं उनके सभी भतीजे और उनके शिष्य इन सभी कार्यक्रम में दिल से उनके साथ रहते हैं और वह भी यह चाहते हैं कि हमारे शहर के सारे युवा वकील निडर ,मजबूत और दृढ़ता से अपना कार्य कर समाज को लाभान्वित करें।

 

हम आपको पुनः बता दें कि वरिष्ठ अधिवक्ता एडवोकेट एल एन पाराशर लगातार निरंतर चाहे वह अरावली के खनन को लेकर या समाज में गंदगी को लेकर कूड़े के ढेरों को लेकर लड़ाई लड़ते रहते हैं, अभी हाल में ही उन्होंने फरीदाबाद नहर पार के बिल्डरों द्वारा जनता पर किए जाए रहे अत्याचार का पुरजोर विरोध किया और सुप्रीम कोर्ट में जाने के लिए भी कहा है। एडवोकेट ऐलन पाराशर गरीबों के हितों को देखते हुए बार एसोसिएशन के कर्मचारियों की मुफ्त बीमा पॉलिसी हो या उन्हें किसी भी तरह की मदद की जरूरत होती है वह हमेशा मजबूती के साथ उन लोगों के साथ खड़े रहते हैं। उन्होंने सभी वकीलों से अपील की है कि वह 27 जनवरी दिन शुक्रवार दोपहर 1:00 चेंबर नंबर 382 मैं समय पर पहुंचकर किताबें प्राप्त करें।
Leave A Reply

Your email address will not be published.